Latest

6/recent/ticker-posts

Welcome To Munger News,Munger News Today | Munger News Hindi, (MUNGERNEWS.IN)

गोपालगंज का एएसपी बता कर ससुराल में रहती थी राशि, घर पर एएसपी का लगा रखा था नेमप्लेट

 गोपालगंज का एएसपी बता कर ससुराल में रहती थी राशि, घर पर एएसपी का लगा रखा था नेमप्लेट...



नयारामनगर थानान्तर्गत कंतपुर में बुधवार की अल सुबह करीब 3 से 4 बजे के बीच मसोमात सीता देवी के घर अलग अलग कमरे में सोए अवस्था में 38 वर्षीय पुत्र मनीष कुमार और 35 वर्षीय पतोहु राशि वारसी की गोली मार कर हत्या कर दी। दोनों को सर के बीच में पिस्तौल से गोली मारी गई है। पुलिस ने घटनास्थल से 7.06 एमएम का दो खोखा और मोबाइल बरामद किया है। पुलिस परिजनों से पूछताछ कर मामले का अनुसंधान कर रही है। स्थानीय कुछ लोग देवर-भाभी के बीच अवैध प्रेम प्रसंग को हत्या का कारण बता रहे हैं। तो कुछ फर्जी पुलिस पदाधिकारी बन कर कई युवकों से नौकरी के नाम राशि लेने को भी कारण बता रहे हैं। लेकिन परिजनों द्वारा सही-सही बात नहीं बताए जाने के कारण इस डबल मर्डर कांड का कारण खोजने व हत्यारों की पहचान करने में पुलिस खुद उलझ कर रह गई है।

मृत महिला की मां व बहन भी कुछ नहीं बता रही घटना की सूचना पर मृत महिला राशि वारसी की मां गौरीपुर जमालपुर निवासी नीलम देवी और बहन पूनम कुमारी भी कंतपुर पहुंची। लेकिन पुलिस द्वारा पूछताछ में वह दोनों भी कुछ सटीक जानकारी नहीं दे पाई। मां व बहन द्वारा सिर्फ यही बताया गया कि मंगलवार की दोपहर करीब 01 बजे मोबाइल फोन पर राशि से नार्मल बातचीत हुई थी। मंगलवार की रात करीब 08 बजे मिस कॉल आया था, लेकिन बात नहीं हो पाई थी।

मृतका की 11 वर्षीय पुत्री ने खोला राज मृतका को 11 साल की एक पुत्री और 05 साल का एक पुत्र है। पति मनोज कुमार इंदौर में धागा फैक्ट्री में काम करता है। पुलिस के छानबीन में मृतका के घर से फ्रेम किया हुआ कुछ फोटो बरामद हुआ है जिसमें मृतका डीएसपी के ड्रेस में है। घर वालों ने बताया कि वह गोपालगंज में एएसपी थी। पुलिस द्वारा गोपालगंज में पूछताछ किए जाने पर यह बात झूठी निकली। शादी के चार साल बाद वर्ष 2012 में राशि वारसी ने पुलिस पदाधिकारी में नौकरी लगने की बात ससुराल वालों से कही थी। घर के बाहर जमा हुए कुछ लोग यह चर्चा करते सुने गए कि पुलिस में बहाली कराने के नाम पर मृतका ने कई युवकों से पैसा ले रखा है। बहरहाल पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। एसपी जगुन्नाथ रेड्‌डी जलारेड्‌डी बताते हैं कि शीघ्र ही इस मामले का खुलासा कर लिया जाएगा।

वसूली का भी हो सकता है मामला पुलिस के अनुसंधान में राशि वारसी के गोपालगंज में डीएसपी या एएसपी जैसे पद पर रहने का खुलासा हो जाने के बाद इस बात की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता कि मृतका फर्जी पदाधिकारी बनकर अपने दोस्त शिवकुमार के साथ मिल कर अवैध वसूली करती हो। 19 अप्रैल 22 को खगड़िया पुलिस लाइन में इसी तरह का एक मामला सामने आया था। विश्वस्त सूत्र के अनुसार पुलिस ने संदेह के आधार पर मृतका के दो नजदीकियों को हिरासत में लिया है।

शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा मृतक की सास सीता देवी और एक देवर श्रवण कुमार द्वारा बार बार पूछताछ में यही बताया जाता रहा कि मंगलवार की रात घर में दो बच्चों सहित 4 लोग ही थी। लेकिन 5 वें व्यक्ति के बारे में ना ताे सास कुछ कह पा रही थी और ना ही देवर श्रवण कुमार। जबकि मृतका की पुत्री आरोही वारसी के अनुसार घटना की रात घर पर शिवकुमार नामक अंकल भी थे। जो घटना के बाद से लापता हैं। फिलहाल पुलिस द्वारा एफएसएल टीम से जांच कराने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

घर में रहते थे मृतका के देवर, पति रहते थे बाहर मसोमात सीता देवी को पांच पुत्र है। सबसे बड़ा पुत्र अरूण कुमार जो शिक्षक है, भागलपुर में परिवार के साथ रहते हैं। दूसरे पुत्र मनोज कुमार जो इंदौर में धागा फैक्ट्री में काम करता है। उसी की पत्नी राशि वारसी की हत्या हुई। तीसरा पुत्र श्रवण कुमार जो घर पर ही रहकर प्राइवेट टयूशन बच्चों को पढ़ाता है। चौथा पुत्र संतोष कुमार जिसकी शादी नहीं हुई है, जो अपने भाई मनोज के साथ इंदौर में रहता है। जबकि पांचवां पुत्र मनीष की हत्या हुई।

मामले शीघ्र होगा उद्भेदन ^कंतपुर में एक ही परिवार के दो लोगों की हत्या हुई है, जो देवर और भाभी हैं। एफएसएल टीम द्वारा जांच करा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मृतका के पुलिस अधिकारी रहने की बात पड़ताल के दौरान झूठी निकली। पुलिस मामले में अनुसंधान कर रही है। - जगुन्नाथरेड्‌डी जलारेड्‌डी, एसपी, मुंगेर।